Sex Toy Boosts Sexual Performance

सेक्स टॉय से सेक्स करने से यौन प्रदर्शन और यौन क्रिया बढ़ जाती है। क्योंकि सेक्स करने की अभ्यास (practise) करने के लिए सेक्स टॉय एक बेहतर तरीका है और इसकी सहायता से बिल्कुल आसानी से सेक्स करने का अलग-अलग तरीका सीखा जा सकता है। सेक्स टॉय की सहायता से सेक्स करने से व्यक्ति को आत्मविश्वास (clear perception) भी आता है और सेक्स टॉय सेक्सुअल स्टैमिना बढ़ाने में भी मदद करता है और सेक्स करने की इच्छा को बढ़ाता है।

ज्यादातर महिलाओं को ऑर्गेज्म की प्राप्ति नहीं हो पाती है, ऐसे में सेक्स टॉय उन्हें उत्तेजना के चरम पर पहुंचाने में मदद करता है और उन्हें बहुत आसानी से और बहुत जल्दी चरम सुख का आनंद प्राप्त हो जाता है। सेक्स टॉय से सेक्स करने पर महिलाओं के स्तन में भी खूब उत्तेजना होती है और वह लंबे समय तक सेक्स कर सकती हैं।

सेक्स के प्रति खुद को जागरूक (awareness) करने के लिए सेक्स टॉय बहुत फायदेमंद होता है। इसका इस्तेमाल करने के बाद ही व्यक्ति को यह पता चलता है कि पुरुष के गुप्तांग से अपने शरीर की कौन सी जगह कितनी देर छूने पर उत्तेजना होती है। सेक्स टॉय पार्टनर की भूमिका अदा करता है और आपको अपने तरीके से सेक्स करने में मदद करता है इससे आपके अंदर छिपी चीजें बाहर निकलती हैं और आपको सेक्स के बारे में अपने आप जानकारी हो जाती है।

सेक्स टॉय वास्तविक नहीं होता है इसलिए यह न तो आपको प्यार कर सकता है और न ही आपकी देखभाल कर सकता है।

Sex Toy (सेक्स टॉय) का इस्तेमाल करने से व्यक्ति को सेक्स करने की लत (addiction) लग जाती है और वो भी सिर्फ सेक्स टॉय से।

सेक्स टॉय से सेक्स करने की लत लग जाने के बाद व्यक्ति अक्सर अकेले रहना पसंद करता है और मौका मिलते ही सेक्स टॉय से अपनी जरूरतें पूरी करने की कोशिश करता है।

सेक्स टॉय से सेक्स करने का सबसे बड़ा नुकसान यह होता है कि महिला पुरुषों की ओर और पुरुष महिलाओं की ओर अधिक आकर्षित नहीं हो पाते हैं क्योंकि वे इस उपकरण (device) के उपयोग से ही खुद को खुश रखते हैं।

Sex Toy (सेक्स टॉय) का इस्तेमाल करने से व्यक्ति कभी-कभी अपने पार्टनर के साथ सेक्स करके संतुष्ट नहीं हो पाता है और अपने पार्टनर के यौन क्षमता की तुलन सेक्स टॉय से करता है जिससे दोनों के बीच रिश्ते खराब होने की संभावना रहती है।

सेक्स टॉय का इस्तेमाल करने से सबसे बड़ा नुकसान यह होता है कि कुछ लोग बिना सेक्स टॉय की मदद से उत्तेजित नहीं हो पाते हैं। ऐसे में उन्हें अपने पार्टनर के साथ सेक्स करने में परेशानी होती है क्योंकि वे पार्टनर के छूने से नहीं बल्कि सेक्स टॉय के छूने से उत्तेजित होते हैं।

सेक्स टॉय का अधिक इस्तेमाल करने के आदी लोग कभी-कभी शादी नहीं करना चाहते हैं और अकेले रहना पसंद करते हैं। ऐसे लोगों को यह लगता है कि उनकी सेक्स संबंधी जरूरते सेक्स टॉय से पूरी हो जा रही हैं और पार्टनर की जरूरत (requirement) नहीं है।

You Might Also Like

Leave Comments