Beauty & Health, Benefit of sex, Male sex toys, men toys, sex positions, Women Toys

सेक्स लाइफ में नहीं रहा कोई जोश तो, बेहतर सेक्सुअल ड्राइव के लिए खाएं ये मसाले

सेक्सुअल प्रॉब्लम्स की सबसे बड़ी वजहों में कुछ बीमारियों के अलावा स्ट्रेस और लाइफस्टाइल से जुड़े कारण भी हैं। इन समस्याओं से राहत पाने के लिए अपने भोजन में बदलाव कीजिए। अपनी डायट में हरी मिर्च, लहसुन और प्याज़ को शामिल करें। इससे, सेक्स ड्राइव बेहतर बनने में मदद होगी।

लो सेक्स ड्राइव (Low Sex Drive ) या लो-लिबिडो (Low Libido) की समस्या से लोगों की सेक्सुअल लाइफ (Foods to boost sexual health) पर बुरा असर पड़ता है। इससे, पार्टनर्स के बीच लड़ाई-झगड़ों की स्थिति भी बनती है। जो, शादीशुदा जीवन को ख़राब कर देती है। इन सेक्सुअल प्रॉब्लम्स (Foods to boost sexual health) की सबसे बड़ी वजहों में कुछ बीमारियों के अलावा स्ट्रेस और लाइफस्टाइल से जुड़े कारण भी हैं। इन समस्याओं से राहत पाने के लिए अपने भोजन में बदलाव कीजिए। अपनी डायट में हरी मिर्च, लहसुन और प्याज़ को शामिल करें। इससे, सेक्स ड्राइव बेहतर बनने में मदद होगी। 

सेक्सुअल ड्राइव बढ़ाने के लिए खाएं हरी मिर्च:

दरअसल भोजन का तीखापन बढ़ाने वाली हरी मिर्च लोगों की सेक्स ड्राइव भी बढ़ाती है। इसमें, ऐसे तत्व होते हैं। जो, मूड बेहतर बनाने में मदद करते हैं। हरी मिर्च खाने से एंडोर्फिन हार्मोन्स का निर्माण होता है। जिन्हें, फील गुड हार्मोन्स कहा जाता है। इनसे, तनाव कम होता है और खुशी महसूस होती है। जिससे, सेक्सुअल डिज़ायर बढ़ने में भी मदद होती है

लहसुन और अदरक:

जैसा कि हर्बल नुस्खों में लहसुन को एक कामोत्तेजक फूड के तौर पर शामिल किया जाता रहा है। इसीलिए, लो सेक्स ड्राइव से परेशान लोगों को लहसुन वाला भोजन खाने की सलाह दी जाती है। दरअसल, लहसुन के सेवन से शरीर में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। इससे, जेनाइटल एरिया की तरफ रक्त का प्रभाव तेज़ होता है। जिससे, इरेक्टाइल डिस्फंशन जैसी परेशानियों से राहत मिलती है

इसी तरह अदरक भी एक ऐसा मसाला है जिसे, कामोत्तेजना बढ़ाने के लिए जाना जाता है। इससे, इम्यूनिटी और पेट से जुड़ी समस्याओं से भी राहत मिलती है। जिससे, शरीर मज़बूत और हेल्दी बनता है। इस तरह ये सभी मसाले सेक्सुअल पॉवर बढ़ाने में मदद करते हैं। (Foods to boost sexual health)

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.