benefits of sex toys

आजकल सेक्स टॉयज( sex toys) का इस्तेमाल न सिर्फ सिंगल महिलाएं और पुरुष बल्कि शादी-शुदा कपल भी करते हैं। हालांकि भारत में अभी भी सेक्स टॉयज पर खुलकर बात नहीं की जाती है क्योंकि सेक्स टॉय का इस्तेमाल करना भारत में गैर कानूनी अपराध माना जाता है। लेकिन ऐसा करना सही नहीं है क्योंकि यह toys तो एक तरह से हमें liberate करता है और अपनी sexuality और फीलिंग को डिसकवर करने में भी काफी मददगार साबित होता है।

सेक्स टॉयज क्या होते है?

सेक्स टॉयज का इस्तेमाल सेक्स का आनंद उठाने के लिए किया जाता है। यह एक छोटे या बड़े खिलौने के रूप में मिलता है जिसमें डिल्डो(dildo)और वाइब्रेटर(vibrator) महिलाओं के लिए बनाया जाता है जो ज्यादातर पेनिस के शेप का होता है। इसे महिलाएँ अपनी वजाइना में insert करके चाहे तो अपने पार्टनर के साथ या पार्टनर के बिना भी जब चाहे सेक्स का आनंद ले सकती हैं। 

वहीं पुरुषों के लिए सेक्स टॉयज महिलाओं की वजाइना के रूप में डिजाइन किए गए होते हैं। वे भी महिलाओं की तरह इन टॉयज का इस्तेमाल करके जब चाहे सेक्स एन्जॉय कर सकते हैं। यह टॉयज बहुत मददगार साबित होते हैं जब आप सिंगल हों या अपने पार्टनर से दूर हों, जैसे की लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप।

सेक्स टॉयज कैसे काम करते हैं? sex toys hindi

ये टॉयज मोबाइल फोन की तरह चार्ज किए जा सकते हैं या फिर कुछ सेल के जरिए भी चलते हैं जो vibrating या non-vibrating हो सकते हैं।

इसमें कोई दो राय नहीं है कि सेक्स टॉयज का इस्तेमाल रियल सेक्स जैसे ही प्लेजर ही देते हैं लेकिन यह आपके अनुभव पर भी निर्भर करता है। सेक्स टॉयज के इस्तेमाल में किसी दूसरे साथी की जरूरत नहीं होती लेकिन अगर किसी को सिर्फ अपने पार्टनर के साथ ही सेक्स करना पसंद है, तो उन्हें सेक्स टॉयज से रियल सेक्स जैसा प्लेजर नहीं मिल पाता है।

सेक्स का आनंद लेने के लिए कभी-कभी रिश्ते में कुछ नयापन लाना जरूरी होता है लेकिन साथ ही जरूरी सावधानियों का भी ध्यान रखना चाहिए। यह ध्यान रखें कि सेक्स टॉयज का इस्तेमाल बहुत ज्यादा या लगातार न करें क्योंकि यह इसकी आदत बना सकता है। इसके अलावा, इन टॉयज का इस्तेमाल अपने पार्टनर के साथ सेक्स के दौरान किया जाए, तो यह रिश्ते को और भी ज्यादा मजबूत बना सकता है।

सेक्स टॉयज से होने वाले बेनिफिट्स

  • अलग-अलग सर्वे और शोध से पता चला है कि सेक्सुअल pleasure बढ़ाने के लिए सेक्स टॉयज का उपयोग करने से आपको नींद आने, इम्यूनिटी पावर बढ़ाने और तनाव कम करने में मदद मिल सकती है।
  • सेक्स टॉयज का इस्तेमाल करने के लिए उम्र एक प्रॉब्लम कभी नहीं है। सेक्स टॉयज से सेक्स करने से दवा या viagra के उलट कम साइड-इफेक्ट्स हैं और कई महिलाओं को क्लिटोरल ओर्गास्म और जी-स्पॉट ओर्गास्म तक पहुँचाने में भी यह मददगार साबित हो सकता हैं।
  • और तो और सेक्स टॉयज लोगों को सेक्सुअल प्लेजर को जारी रखने में भी मदद कर सकते हैं जब पेनिट्रेटिव सेक्स संभव नहीं है या जब आपके libido में कमी आ गई हो।
  • पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए सेक्स टॉयज sex toys hindi को इस तरह बनाया जाता है की वे सेक्स के बारे में एक बिना किसी शर्म के बात कर सकें कि उन्हें एक कपल की तरह क्या पसंद है या अकेले में उन्हें कैसा सेक्स पसंद है यह साझा कर सकें। यह कुछ ऐसा हो सकता है जो शर्मिंदगी के कारण पहले नहीं आजमाया गया हो, लेकिन डॉक्टर इसके इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं।
  • यह ध्यान रखें की सेक्स टॉय चुनते समय सिलिकॉन, कड़े ग्लास या ABS प्लास्टिक से बने ‘त्वचा-सुरक्षित’ प्रॉडक्ट्स को चुनें, क्योंकि कुछ टॉयज ऐसी चीज़ों से बने होते हैं जो आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकते हैं।

You Might Also Like

Leave Comments